इस फोटो-स्टोरी में जानिए पूरी दुनिया में लोग कितने तरह से होली मनाते हैं। इनके त्योहार में रंग नहीं बल्कि कुछ अलग ही चीजों को प्रयोग होता है।

इस लिस्ट में सबसे पहले नाम आता है इटली के 'द ऑरेंज बैटेल' का। ये एक ऐसा त्योहार होता है जिसमें लोग एक-दूसरे पर रंग नहीं बल्कि संतरे फेंकते हैं। इसे इटली के इवरिया में मनाया जाता है।

साउथ कोरिया के बोरियॉन्ग में होने वाले मड फेस्टिवल के बारे में जानते हैं? ये एक ऐसा त्योहार है जिसमें लोग मिट्टी और कीचड़ में सराबोर हो जाते हैं। लोगों ने इस त्योहार को 1998 में मनाना शुरू किया। इस त्योहार में हिस्सा लेने और इसे देखने के लिए हर साल लाखों लोग पहुंचते हैं।

स्पेन के 'ला टोमैटीना' का नाम तो सुना ही होगा। सुबह 11 बजे से दोपहर एक बजे तक मनाए जाने वाले इस त्योहार में लोग टमाटरों से होली खेलते हैं। इसे स्पेन के बुनॉल में मनाया जाता है। टमाटर को एक-दूसरे पर दे मारना इस त्योहार को मनाने का असल तरीका है।

ऑस्ट्रेलिया के क्वींसलैंड में चिनचिला नाम की एक जगह है। इसे ऑस्ट्रेलिया को 'मेलन कैपिटल' कहा जाता है। इस त्योहार को फरवरी के महीने में मनाया जाता है। लोग इस दौरान तरबूजों को तोड़ने, उसे एक-दूसरे पर लगाने और नीचे गिरे टुकड़ों पर लेटकर इसे मनाते हैं। इस दौरान कई हजार किलो तरबूज यूं ही खत्म हो जाते हैं।

थाईलैंड का नया साल 13 से 15 अप्रैल तक मनाया जाता है। जाहिर सी बात है कि नया साल होगा तो लोग इसे मनाएंगे ही। थाईलैंड में नए साल को भी एक त्योहार की तरह मनाया जाता है। इसका नाम सौंगक्रन है। इस त्योहार में लोग जमकर एक-दूसरे पर पानी उड़ेलते हैं। ये तीन दिनों तक मनाया जाता है। पानी चाहें बर्फ जितना ही ठंडा क्यों ना हो, लोग पानी वाली होली खेलना नहीं भूलते।
ग्रीस में गैलाजिडी नाम की एक जगह है। यहां 'द क्लीन मंडे फ्लोर वॉर कार्निवल' नाम का त्योहार मनाया जाता है। मार्च के शुरू में मनाया जाने वाला ये त्योहार बड़ा अनोखा होता है। इसमें लोग सड़कों पर उतरते हैं और जो दिखता है उसे सूखे आटे में रंग डालते हैं। इस दौरान लोगों की नाक, आंखों और मुंह के अंदर भी आटा चला जाता है और फिर भी इसे मजे में लिया जाता है। कई लोग मास्क लगाए भी दिख जाते हैं।

अपनी प्रतिक्रिया दें

महत्वपूर्ण सूचना

भारत सरकार की नई आईटी पॉलिसी के तहत किसी भी विषय/ व्यक्ति विशेष, समुदाय, धर्म तथा देश के विरुद्ध आपत्तिजनक टिप्पणी दंडनीय अपराध है। इस प्रकार की टिप्पणी पर कानूनी कार्रवाई (सजा या अर्थदंड अथवा दोनों) का प्रावधान है। अत: इस फोरम में भेजे गए किसी भी टिप्पणी की जिम्मेदारी पूर्णत: लेखक की होगी।

और भी पढ़ें..

विज्ञापन

khari kasuti

फोटो-फीचर

हिंदी ई-न्यूज़ से जुड़े

विज्ञापन

hindi e news