नासिक की लासलगांव मंडी में इस सीजन प्याज की कीमतें अपने सबसे निचले स्तर 460 रुपए प्रति क्विंटल पर हैं। जबकि इसकी कीमत लगभग 950 रुपए के करीब होती है। लासलगांव, प्याज की सबसे बड़ी मंडी में इसकी भरमार देखी जा रही है। यहां हर दिन औसतन 12,000-15,000 क्विंटल प्याज आ रहा है जबकि दैनिक लाल प्याज की आवक 40,000 क्विंटल है। भरपूर फसल के कारण व्यापारियों द्वारा अधिक रेल के डिब्बे की मांग की जा रही है तांकि प्याज को देश के बाकी हिस्सों में पहुंचाया जा सके।

सोमवार को प्याज की गुणवत्ता और आकार के अनुसार इसकी कीमत 330 रुपए से 600 रुपए के बीच थी। प्याज के परिवाहन के लिए कम से कम 40 रेक की आवश्यकता होगी। व्यापारियों को अब तक केवल 15 वैगनों मिले हैं। बाजार में फसल की अावक ज्यादा होने के कारण भी परिवहन सुविधाओं में कोई वृद्धि नहीं की गई। अगर व्यापारी रोजाना सड़क परिवहन का उपयोग करते हैं तो उन्हें प्रतिदिन 200 ट्रकों की आवश्यकता होगी। इस तरह रेलवे के हिसाब से सड़क परिवाहन उन्हें महंगा पड़ेगा। गर्मियों की फसल प्याज का सीजन अक्टूबर में समाप्त हो जाता है। उचित भंडारण की सुविधा के अभाव से किसानों की फसल का 20 लाख टन का नुक्सान हुआ है।

अपनी प्रतिक्रिया दें

महत्वपूर्ण सूचना

भारत सरकार की नई आईटी पॉलिसी के तहत किसी भी विषय/ व्यक्ति विशेष, समुदाय, धर्म तथा देश के विरुद्ध आपत्तिजनक टिप्पणी दंडनीय अपराध है। इस प्रकार की टिप्पणी पर कानूनी कार्रवाई (सजा या अर्थदंड अथवा दोनों) का प्रावधान है। अत: इस फोरम में भेजे गए किसी भी टिप्पणी की जिम्मेदारी पूर्णत: लेखक की होगी।

और भी पढ़ें..

विज्ञापन

hindi e news

फोटो-फीचर

हिंदी ई-न्यूज़ से जुड़े

विज्ञापन

hindi e news